Wednesday, May 13, 2009

!! हमार देश यहाँ के नेता हमारी सरकार एवं उनके झूठे वादे !!

!! हमार देश यहाँ के नेता हमारी सरकार एवं उनके झूठे वादे
!!

हमारी सरकार और उनके वादे? हमारा देश एक लोकतान्त्रंरिक देश है. यहाँ सबको अपना स्वतन्त्रता का अधिकार प्राप्त है. यहाँ सब लोग स्वतन्त्र है। पर दुख: इस बात का है कि हमारे देश मै आज भी आदे से अधिक लोग गरीबी की रेखा से नीचे जीवन यापन कर रही है। हमारे देश मे साक्षरता भी निम्न है। बेरोजगारी भी बढ रही है आज दुनियां के देश विकसित है. और हमारा देश विकाशील ऐसा क्यों? हमारे देश मे प्रति वर्ष अनेकों किसान आत्मह्त्या करता है क्यों? इन सबका जबाब किसि के पास नहि है यहाँ तक कि जो हमारि सरकार है उनके पास भी नही है हमारे देश में लगभग १ अरब ६ करोड़ से भी ज्यादा जनसख्यां है. और इतने बडे़ लोकतन्त्र देश मे हम लोग एक सही लीडर नही चुन सकते जो हमारे लिये बडी दु:ख एवं र्शम की बात है. और इसका नतीजा ये होता है कि हमारे देश की डोर गलत सरकार के हाथो मे चली जाती है. और जिसका परिणाम हमे ही भुगतना पड़्ता है। हमारे देश की ७५% आवादी गाँवो मे बसी है. और उनमे से भी कई ऐसे गाँव हैं जहाँ आज तक सड़क {मोटर मार्ग} बिजली आदि सुबिधायें नहीं है. लोग कई किमी० पैदल चलना पड़ता है और लोगो को कई कठनाईयों का सामना भी करना पड़ता है. पर हमारी सरकारे सोई हुई है. चुनाव के दौरान कई भाषण दिये जाते है मै भी एक ऐसे ही गाँव का रहने वाला हूँ यहाँ के लोगो का दुख: दर्द मुझसे बहतर कौन समझ सकता है?? मेरा गाँव का नाम झींझी (ईरानी) है। जो उत्तराखण्ड के चमोली जिले मे पड़ता है मेरे गाँव मै आज भी रोड़ {मोटर मार्ग} नही है बिजली नहीं है वहाँ आज भी २६-३० किमी० पैदल चलना पड़ता है. होस्पिटल नही है जब भी कोई बीमार पडता है तो उसके लिये या तो शहर ले जाना पड़ता है अगर समय नही हो तो वो जिन्दगी के आखरी सांसे गिनने लगते है. और यहाँ जैसे हजारो गाँव की आवाज किसी के कानो तक नहीं पहुँचती है. चुनवी दौर मै अनेक वादे किये जाते है. आज से कुछ साल पहले जब मै स्कूल मै पड़ता था तो वहाँ कई नेता आते थे वो भी वहीं तक जहाँ तक गाडी़ जाती है. और वहाँ के छोटे मोटे चम्चे लोग नेतओं के लिये मचं का आयोजन करते और जब नेता आते तो नेता कि चम्चागिरी करना और नेताओ के पीछे पीछे घूमना. और फ़िर नेता जी ने अपना भाषण सुरू करते नेता जी ने कई वादे मेरे सामने किये कि गाँव मै रोड.१ साल मै पहुँच जयेगी बिजली आयेगी और नेता के इन झूठे वादों से वहाँ की भोली जन्ता खुश हो गयी और नेता जी जीत गये. (मै नेता का नाम नही लिखन चाहुंगा क्योकि ये लेख ब्यक्तिगत किसि एक पर आधारित नहि है) परन्तु आज तक वहाँ कुछ नहीं हुआ. जैसा क तैसा. मै ये बात आज से लगभग 8-10 साल पहले की बात कर रहा हूँ! जब तक इनके पास कुछ नही होता है तब तक ये जनता के पीछे भागते है. पर जब इनके हाथ मे सत्ता आ जाती फ़िर वो सब कुछ भूल जाते हैं ये सब लोग तो आराम से आलिसान जगह पर आम जनता की खून पसिने की कमाई से जिन्दगी का आनन्द उठाते हैं इनको क्या पता कि महनत क्या होती है? काश इन लोगो ने भी कभी महनत की होती तब इनको पता चलता कि महनत कि कमाई क्या होती है? इनके पास रहने के लिये आलिसान कई बंगले है. पर हमारे देश मै कई लोग बेघर है. काश ये लोग अपने से ज्यादा जनता पर ध्यन दें तो देश क भला होगा. इन नेताओ कओ ये समघ न चहिये कि वो जनता के नौकर है जनता की सेवा करना इनका कर्तव्य है. जनता ने अपन पर्तिनिधित्व इनको चुना है. इन पर जनता का अधिकार है न कि जनता पर इनका अधिकार !!जनता जब चाहे इनको रख सकती है जब चाहे गिरा सकती है. पर ये पर इनको एक दूसरे से लडाने जति के नाम पर धर्म के भेद पर क्योकि इनको तो कुछ होता नहीं है अपने फ़ायदे के लिये किसि हद तक जा सकते हैं ये नेताओ मै ज्यादा लोग या तो दाग वाले है या किसि केश मै फ़ँसा हुआ हैं किसि के पास आय से अधिक पैसा है करोड़ो अरबों पैसा है ये कहाँ से आया?? बिना महनत के पैसे नही कमा सकते पर ये लोग तो महनत नहि करते फ़िर इनके पास इतना पैसा कहां से आता? कोइ नहीं पूछ्ता क्यों?? ये सब हमारा जनता क पैसा है. जो विकाश के नाम पर अपना पेट भरते है!!
क्योकि दूसरो के बारे मै कौन सोचता है? सबको अपना भला चाहिये अपने स्वर्थ के लिये कुछ भी कर सकते है लोग. कभी सोचा है कि इसके जिम्मेदार कौन है? इसके जिम्मेदार हम लोग खुद हैं क्योकि हम लोग जागरूक नही हैं। मतदान के समय १००% में से सिर्फ़ ४० से ६०% तक ही मतदान होता है क्यों?? क्योंकि हम लोग जागरूक नहीं है. पहले हम लोगो को जगरूक होने की जरूरत है पूरे देश को जगरूक होने की आवश्यक्ता है। अगर हम सही प्रतिनिधि नही चुनेगे तो वो हमारे एवं हमारे देश के लिये बहुत बड़ा खतरा साबित हो सकता है. आज हमारे देश को चाहिये कि यहाँ बदलाव हो देश के दुश:मनो को खतम करो. देश के (दीमक के कीडो़) को मिटाना. देश में एक नई क्रान्ति लाना हम युआवो का कर्तव्य है. चाहे वे किसी रूप में हो. अगर हम लोग अपने देश के लिये कुछ करना चाहते तो हमें जागना होगा.!

मै अपने देश के सभी लोगो से यही विनती करूंगा कि अपना अधिकार का परयोग करें अपने अधिकार को समझें और इस देश के विकास मै सहयोग दे. हमारे देश की ऐसी गन्दी राजनीति को जड. से उखाड. कर नया युग क निर्माण करें!!

धन्यवाद !!!



****~!~*देव*~!~****

!!!!जै हिन्द!!!!



Contect me at:-

dev1986@gmail.com
devlove1986@in.com
devnegi1986@yahoo.com
devnegi1986@gmail.com




(नोट:- यह लेख किसि ब्यक्तिगत आधार पर आधरित नही है कृपया इसमे कोइ आपतजनिक शब्द का प्रयोग हुआ हो तो उसके लिये क्षमा प्रार्थी )
Post a Comment